नमस्कार!   रचनाएँ जमा करने के लिए Login करें कुछ दिन तो गुजारो .... · हिन्दी लेखक डॉट कॉम
Aug 17, 2017
41 Views
0 0

कुछ दिन तो गुजारो ….

Written by


सब का मालिक एक है,क्या गुजरात बिहार |
चारो-खाने चित हुई ,जनता की सरकार ||
—-
पास अभी अनमोल ये,जनता का उपकार |
देख समझ के बोलिये ,नाविक-खेवनहार ||

वे कहते कुछ दिन सही,सह गुजरात गुजार|
अभी-अभी तो लौट हम,देखे रंग हजार ||

पास हमारे वोट हैं,करते तुम तकरार|
मंजिल तक पहुचा गई ,हमको कंडम कार ||

मन में अदभुत शांति का ,आवे कभी विचार |
दौरा कर गुजरात का ,विधायक ले उधार ||

सुशील यादव दुर्ग

No votes yet.
Please wait...
Article Categories:
कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

#वर्तनी