नमस्कार!   रचनाएँ जमा करने के लिए Login करें प्रयास · हिन्दी लेखक डॉट कॉम
Jun 15, 2017
335 Views
0 0

प्रयास

Written by

गणवेश किया है धारण ,
बस्ता पीछे लाद लिया है !
मास्टरजी का होमवर्क भी ,
हमने रट्टा मार लिया है !
धूलभरी राहें आतुर हैं –
स्वागत को अपने हमदम !!

हाथ थाम कर हाथों में ,
हमको राह नई गढ़ना है !
बाधाएं हैं कई सामने ,
हमको बस पढ़ना पढ़ना है !
खेल कूद में अव्वल आकर –
दिखलाना हमको दमखम !!

सबके सपने कांधे पर ले ,
मजबूत इरादे कर बैठे हैं !
अभी बहुत कुछ हासिल करना ,
कदम कदम पर सितम मिले हैं !!
सफलता कदम चूमने निकले –
यही प्रयास रखें हरदम !!

– भगवती प्रसाद व्यास

Rating: 4.8. From 9 votes. Show votes.
Please wait...
Article Categories:
गीत-ग़ज़ल

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

#वर्तनी