गीदड़ की तरकीब

Home » गीदड़ की तरकीब

गीदड़ की तरकीब

By |2018-01-20T17:07:51+00:00November 12th, 2015|Categories: पंचतन्त्र|Tags: , |0 Comments

एक स्थान पर वट वृक्ष की जड़ में रहने वाले अपने एक प्रिय मित्र सियार के पास गए और उससे कहा-“मित्र, एक दुष्ट काला सांप पेड़ की खोल से निकल कर हमारे बच्चों को खा लेता है | ऐसी स्थिति में हमें क्या करना चाहिए ? उस सांप से हमारे बच्चों की रक्षा का कोई उपाय बताओ |”

एक दिन वे दोनों एक वृक्ष की जड़ में रहने वाले अपने एक प्रिय मित्र सियार के पास गए और उससे कहा- “मित्र, एक दुष्ट काला सांप पेड़ की खोल से निकल कर हमारे बच्चों को खा लेटा है | ऐसी स्थिति में हमें क्या करना चाहिए ? उस सांप से हमारे बच्चों की रक्षा का कोई उपाय बताओ |”

सियार बोला- “मित्र, इसमें दुःख करने की कोई बात नहीं | उस लालची सांप को किसी दूसरे उपाय से मारने होगा | जो विजय चतुराई या तरकीब से प्राप्त होती है, वह हथियारों से प्राप्त नहीं हो सकती | उपाय जानने वाला व्यक्ति चाहे शरीर से कमजोर ही क्यों न हो, वीरों द्वारा भी वह पराजित नहीं होता | जैसे उत्तम, मध्यम और अधम प्रकार की मछलियों को खाकर भी अधिक लालच के कारण एक बगुले को केकड़े की पकड़ में आकर जान से हाथ धोने पड़े थे |”

कौआ बोला- “वह कैसे मित्र ?”

तब गीदड़ ने उन्हें यह कथा सुनाई |

लेखक – विष्णु शर्मा

 

Say something
No votes yet.
Please wait...

About the Author:

Leave A Comment