आज का भरत

बड़े भाई विकेश को नौकरी के सिलसिले में दो माह के लिए दूरस्थ शहर में जाना पड़ गया | उसने छोटे भाई सोमेश को अपने पास बुलाया और समझाया, ‘देख, पिताजी की ठीक से देखभाल करना | मेरे आने तक तुम ही इस घर के राजा हो ‘दो माह बाद विकेश लौटा | सोमेश ने पिताजी के बैंक खाते एवं पॉलिसियां अपने नाम ट्रांसफर करवा लिए थे |पिताजी अस्पताल में भर्ती थे | वह मजे से जीवन-यापन कर रहा था | जिम्मेदारियां हवा में  रफूचक्कर हो चुकीं थीं |

– डॉ. घमंडीलाल अग्रवाल (साभार दैनिक जागरण )

No votes yet.
Please wait...

Leave a Reply

Close Menu