वादा

Home » वादा

वादा

याद आता है प्यार का वादा
दिल के चैनो-क़रार का वादा
हर्फ़ बा हर्फ़ दिल पे लिक्खा है
जो है उस जांनिसार का वादा
उनको छूकर चली वो आयेगी
हमसे है इस बयार का वादा
( बयार= हवा/पवन )
उनकी आंखों में लग रहा मुझको
फ़िर से छाया ख़ुमार का वादा
हार अपनी के बाद बोले हम
हमसे उनका था हार का वादा
जानती है ये मां की ममता भी
शर्त बिन है दुलार का वादा
ये भी ‘आनन्द’ है यकीं मुझको
पूरा होना है यार का वादा
स्वरचित
DrAnand Kishore
Delhi,

Say something
Rating: 4.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
~~~~~~~||| * परिचय *|||~~~~~~~ नाम : डॉ आनन्द किशोर ( Dr Anand Kishore ) उपनाम : 'आनन्द' सुपुत्र श्री लेखराज सिंह व श्रीमती रामरती धर्मपत्नी : श्रीमती अनीता पता : मौजपुर , दिल्ली शैक्षिणिक योग्यता : M.B.,B.S. सक्रिय लेखन : ग़ज़ल, कविता, गीत में विशेष रूझा

One Comment

  1. माधुरी शर्मा (मधु) February 13, 2018 at 12:03 pm

    Nice

    No votes yet.
    Please wait...

Leave A Comment