१-

विषयों की प्रियता का भान ,

प्रत्येक प्राणी को होता है ।

इनकी नश्वरता का ज्ञान”उपासना”

किसी विरले को होता है ।

२-

हे मानव!एक दिन ऐसा आएगा,

जब तू बहुत पछताएगा  ।

विषयों की नश्वरता का “उपासना”

जब तुझे ज्ञान हो जाएगा ।

 

Say something
Rating: 4.8/5. From 9 votes. Show votes.
Please wait...