यूँ खेलें होली ..

Home » यूँ खेलें होली ..

यूँ खेलें होली ..

  होली  का उत्सव ज़रूर मनाये ,

  ख़ुशी से   मेहरबां !

 मगर  पर्यावरण का भी हुजुर!

कुछ रखिये  ध्यान .

प्राकृतिक रंगों का करें सदा  उपयोग ,

परस्पर रंग लगाने में.

पानी का ना करे दुरूपयोग ,

क्या मिलता है कीचड़ फ़ैलाने में .

गले मिले ,बधाई दें  आप ,

सच्चे दिल से ,प्यार से ,

सारा  वैमनस्य भुलाकर,

बड़ी  मुहोबत से .

रंगना है तो  इस होली के रंग में ,

रंगे अपने प्यार से  रिश्तों को   .

मगर कृपया मत  रंगों नदियों ,

पेड़ों -पौधों  और धरा को .

 

अपनी मस्ती/ दीवानेपन में ,

कुछ शरारती लोग  पशु-पक्षियों पर रंग डालते ,

वोह जाने क्यों इस ख़ुशी के अवसर पर ,

बेजुबानो को  व्यर्थ ही  कष्ट और पीड़ा पहुंचाते .

इंसानों का है यह  त्योहार ,

तो इंसानियत से  इसे मनाये .

इस पवित्र  उत्सव  में  दोस्तों !

परस्पर प्यार और भाईचारे का सन्देश  फैलाएं .

 

कुछ इसी तरह  खेलें हम होली ,

के जो  मिसाल हो .

एकता का रंग  होली का ,

जिसे हर दामन  रंग हो.

यूँ खेलें हम होली ….`

 

 

 

 

 

Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
संक्षिप्त परिचय नाम -- सौ .ओनिका सेतिया "अनु' , शिक्षा -- स्नातकोत्तर विधा -- ग़ज़ल, कविता, मुक्तक , शेर , लघु-कथा , कहानी , भजन, गीत , लेख , परिचर्चा , आदि।

Leave A Comment

हिन्दी लेखक डॉट कॉम

सोशल मीडिया से जुड़ें ... 
close-link