मेरे ये सारे भरम टूट जाए।

मेरे ये सारे भरम टूट जाए।
किसी रोज़ जो नोकरी छूट जाए।

अक्सर सुनता हूँ-
“मेरा कमाऊ बेटा”
“मेरे अच्छे पति”
“मेरे प्यारे पापा”
और रिश्तेदारो की तारीफें।

मेरे ये सारे भरम टूट जाए।
किसी रोज़ जो नोकरी छूट जाए।

फिर अक्सर सुनूंगा-
“मेरा आलसी बेटा”
“मेरे निकम्मे पति”                                     

“मेरे बेकार पापा”

और रिश्तेदारो के तानें।

सोचता हूँ ये सारे भरम तोड़ ही दूं।
और किसी रोज़ ये नोकरी छोड़ ही दूं।

Rating: 4.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

Mahesh Chauhan Chiklana

लिखने का शौक है

Leave a Reply

Close Menu