पहचान

Home » पहचान

पहचान

By |2018-01-20T17:07:33+00:00February 19th, 2016|Categories: कविता|0 Comments

कभी कोशिश तो करो

खुद को टटोलने को

कुछ नया जानने को

स्व को तलाशने को

 

अपने अहं को त्याग

कुछ लम्हे समटने को

दो पल गुजरो खुद संग

आनन्द में रहने को

 

हो जाओ मग्न ऐसे

सारा आकाश तुम हो

कुछ तत्व है धरा के

पहचान उनसे कर लो

 

दो फेंक बंधन के जाल को

सारे भ्रम को तोड़ दो

डूब जाओं एक क्षण को

अंतिम जैसे प्रहर हो

 

सारे धर्म को तज कर

प्रयास जो करो तुम

स्व का मिलन हो स्व से

एक कोशिश तो करो तुम…..

लेखक / लेखिकाडॉ. वंदना मिश्रा

Say something
No votes yet.
Please wait...

About the Author:

Leave A Comment