सीता राम लाया हूँ…

मै सभी के वास्ते नया आयाम लाया हूँ
हाथ जोड कर सबके लिए प्रणाम लाया हूँ !

कुछ दे नही सकते तो सम्मान दिया कीजिये
हर एक नेक बन सके यही पैगाम लाया हूँ !!

आदर्श सीखना हो तभा रत से सीख लो
इतिहास के पृष्ठों से सीता राम लाया हूँ !

हम युद्ध से डरते नही यह बात जान लो
महाभारत से कुरूक्षेत्र का संग्राम लाया हूँ !!

हमको मिटाने मे न जाने कितने मिट गए
उपद्रवियों का जो हुआ अंजाम लाया हूँ !!

प्रेम का इससे बड़ा उदाहरण नही कही
अपनी जबां पर मीरा राधे श्याम लाया हूँ !!

मनोज उपाध्याय मतिहीन

Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...