जीवन पथ…

…………जीवन पथ………….

शैशव से शव तक की यात्रा राही तय तो करनी होगी
चाहे जितना जतन करे तू जो करनी सो भरनी होगी|

बाल्यकाल में खेला खाया तरुणाई मे मौज किए
जवानी में जिम्मेदारी की चौखट नाक रगड़नी होगी||

किंकर्तव्य – विमूढ हुआ जाता तू देख बूढापे को
तब ना किया उद्योग तो अब तुमको संयम करनी होगी|

जीवन के अंतिम पड़ाव पर आ कर तेरी नाव खड़ी
मंजिल यद्यपि पता नही पर नौका पार उतरनी होगी||

मनोज उपाध्याय मतिहीन …
अयोध्या नगर महासमुंद

Rating: 4.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

मतिहीन

मनोज उपाध्याय मतिहीन, अयोध्या नगर महासमुंद,छ.ग. पिन 493445

Leave a Reply

Close Menu