भारत सपूत था अटल महान।
ना थका न रोका जीवन समर
चाहे रह गई कंठ में जान।
वीर सैनिक लड़ता रहा अटल
न कशमकश में पड़े हिंदुस्तान ।
चने चबा-चबा थक गया पाक
जब बना ये भारत-बागबान ।
देखो अब भारत रत्न प्यारा
तिरंगे में लिपटा है बेजां ।
मगर भारत केसरी की सदा
दुनिया में अमर रहेगी शान।

।।मुक्ता शर्मा ।।

Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...