फजा कोई गीत गुनगुना रही है…

Home » फजा कोई गीत गुनगुना रही है…

फजा कोई गीत गुनगुना रही है…

By |2018-08-24T07:42:00+00:00August 24th, 2018|Categories: गीत-ग़ज़ल|0 Comments

हवाओं से सदाएं आ रही है
फजा कोई गीत गुनगुना रही है | २
मोहब्बत की महक सांसो मे जैसे
मेरे महबूब की समा रही है ||हवाओं..
दिलों में प्यार की सरगम बजी है
हरेक शाखों पे बुलबुल गा रही है |
गुलशन में बहारों का है आलम
कली हर फूल बनती जा रही है || हवाओं से..
चले आओ तुम्हे दिल ढूंढता है
तेरी यादों की बदली छा रही है |
मुझे मतिहीन तनहाई के नगमें
जैसे नश्तर कोई चुभा रही है || हवाओं से..
झील चुपचाप झरना भी ना बोला
चाँद की शय भी ढलती जा रही है |
मेरे मन का भी मंदिर बहुत सूना पड़ा है
धड़कन की खामोशी बढती जा रही है ||
हवाओं से..

मनोज उपाध्याय मतिहीन…
अयोध्या नगर महासमुंद रायपुर

Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

About the Author:

मनोज उपाध्याय मतिहीन, अयोध्या नगर महासमुंद,छ.ग. पिन 493445

Leave A Comment