पत्नी जी की प्रश्न श्रृंखला पतिदेव को लगती बुरी,
इन्हीं बात में हो जाती दोनों में फिर कहा सुनी |
हो जाती फिर कहा सुनी बात इतनी बढ़ जाती,
मायके जाने की धमकी पति श्री को मिल जाती |
बड़े ही बेमन से पति फिर मनुहार हैं करते,
क्या करोगी मान जाओ अब नहीं हम लड़ते |
पत्नीजी का पारा सात आसमान पे जाता,
अब तुम्हारे साथ मेरा गुजारा नहीं हो पाता |
मन ही मन में ख़ुश हो कर पति देव सो जाते,
कुंवारे दिनों की मस्ती के सपने फिर उनको आ जाते |
पर रातोंरात फिर पत्नी जी का मूड़ बदल जाता,
पति देव के अरमानों पे तब पानी फिर जाता |

Say something
No votes yet.
Please wait...