आज मन मे एक बात आई है मैन सोचा क्यों ना लिख दूँ। शायद मेरी बात सत्य ही हो जाये।
जैसे हम लोग सरकारी नौकरी करने के लिए रात-दिन पढ़ते है बिना किसी शौक के ना कही घूमना ना कही मौजमस्ती करना बस पढ़ाई।
कभी-कभी तो 2-3 साल लग जाते है। नौकरी पाने के चक्कर मे या कभी नही भी मिलती। मिलती है बस उसी को जो दिल से मेहनत और ईमानदारी से पढ़ाई करते है।
इतना सब कुछ करने के बाद एक सरकारी नौकरी मिलती है।
फिर जिस विभाग में हम नौकरी करते है। वहां एक सबसे बड़ा अधिकारी होता है। और उससे बड़ा जो होता है वह एक नेता होता है। जिसको कुछ पता नही होता है लेकिन फिर भी I A S, I P S, P C S जैसे बहुत से लोग उस नेता को सलाम करते है।
क्यो ना भारत के संविधान में एक ऐसा कानून बने की नेता बनने के लिए राजनीति शास्त्र से स्नातक और फिर प्रारंभिक परीक्षा फिर interview फिर किसी पार्टी से टिकट मिले क्या ऐसा हो सकता है
अगर हो जाये तो देश की आर्थिक व्यवस्था और देश मे हो रही गंदी राजनीति सुधार हो जाये
क्योकि देश मे सबसे ज्यादा क्रिमिनल नेता ज्यादा है यह कानून देश मे आना चाहिए ताकि अपना भारत देश और उन्नति करे।
और ये अनपढ़,क्रिमिनल नेता जो देश को जातिवाद, धर्म के नाम से आपस मे भाइयो को लड़ाते है बंद हो
अगर आपको मेरी सोच ठीक लगे तो शेयर करे।
भारत माता की जय।

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...