बहुत प्यारा गुजरा हुआ पल…

दिल की है आरजू तुमसे हर एक बात बताएं!
बेमतलबी भरी दुनियां में तुम्हें अपना बनाएं!!

तुम्हारे साथ गुजारा हुआ वो लम्हें हमें याद है
तुम्हारे बिना जीवन जीने के बारे में सोचे नही
मैं तुमसे अपनी हर वो बातें बताना चाहता हूं!!

मैं किसी भी हाल में रहूं तुम्हें हर हाल में
गम से कोसों दूर रखना चाहता हूं प्रिय
मगर ये भी सत्य है मैं तुम्हे बेहद चाहता हूं!!

हर दिन की तरह रोज एक ही इरादें काश
मैं तुमसे दिल की ओर बातें कर पाऊ काश
मगर सत्य है कि तुमसे बातें नही हो पाता!!

मैं कितना तन्हाई में जीता हूं क्या कहूं मैं
बस जी लेता हूं तेरी यादें मेरे सीने में क़ैद है,
मगर यह भी सत्य है मैं तुमसे दूर कभी हुआ नही!!

मेरे नयनों में सुख गए अब आंसू अब नही
बहते हैं इन आंखों से पानी की धाराएं अब
“प्रेम प्रकाश” को तेरे आने की आशाएं है !!
– प्रेम प्रकाश
पीएचडी शोधार्थी
रांची विश्वविद्यालय
रांची झारखंड भारत।

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...