वर्ल्ड हार्ट-डे
दिल का मामला है, कोई दिल्ल-लगी नहीं। जरा ध्यान लगा कर पढ़िए। आज मैं (दिल) आपसे कुछ मन की बातें करना चाहता हूं। मैं हमेशा आप का भला चाहने की कोशिश में दिन रात बिना रुके अपना कार्य (धड़कता,खून की पम्पिंग) बिना किसी शिकायत के करता हूं। पता है मैं कितनी मेहनत करता हूं, एक महीने में 38 हजार लीटर के 5.3 टैंकर भर जाएं, इतना रक्त पम्प करता हूं। एक मिनट में हृदय जितना रक्त पम्प करता है उसे कार्डिएक आउटपुट कहते हैं।इससे सेहत का आकलन किया जा सकता है।ये आउटपुट जितना अच्छा उतनी सेहत अच्छी।
लेकिन क्या कभी आप भी मेरे बारे में सोचते हैं, मुझे क्या अच्छा लगता है, मैं क्या चाहता हूं, मेरे स्वास्थ्य के लिए क्या उचित है। कई बार मैं आपको संकेत भी देता हूं, फिर भी आप नहीं मानते।आप बस अपनी मनमानी करते हैं।जिस दिन से आपने जन्म लिया है मैं अनवरत चले जा रहा हूं, अगर आप की हरकतों की वजह से मुझे भी गुस्सा आ गया तो, you know आपकी टें बोल जायगी। मजाक नहीं है ये,बस अब आपको मेरी सारी बातें ध्यान से सुननी भी होंगी और माननी भी होंगी। हमेशा सकारात्मक रहें।
जब मुझे परेशानी होती है, इसका सबसे सामान्य लक्षण छाती के बीच में तेज दर्द होना है, जो कि शरीर के बाईं ओर होता है।खासतौर से बाएं हाथ, कमर और दोनों कंधों के बीच में इसका दर्द होता है। व्यक्ति को बहुत ज्यादा पसीना आने लगता है।अगर कोई मधुमेह से पीड़ित है या वैसे भी कई बार कुछ सेकेंड के लिए आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है, चक्कर आ सकते हैं, हो सकता है पसीने में भीग जाओ,सांस लेने में तकलीफ, कुछ समय के लिए समझ खो देना, थकान, उबकाई की फीलिंग भी एक लक्षण है। कई बार आप गैस और पाचन की परेशानी तथा हृदय की बीमारी में कन्फ्यूज हो जाते हैं।अतः प्लीज तुरंत चिकित्सीय सहायता लें।
अन्य देशों की तुलना में भारत में मेरे रोगी ज्यादा हैं।क्या करूँ आप काम ही ऐसे करते हैं, कोलेस्ट्रॉल का सामान्य से अधिक बढ़ना,जिससे रक्तवाहिनी धमनियों में रुकावट पैदा होती है और मेरे बीमार होने का खतरा दो तीन गुना बढ़ जाता है।और ये जो आप परिश्रम, मेहनत या व्यायाम बिल्कुल न करके आलसियों का जीवन जीते हो ना, ये तो मुझे बिल्कुल गवारा नहीं। मधुमेह, ब्लडप्रेशर बढ़ा हुआ रहना, गलत तरीके से आहार विहार, शराब, सिगरेट तो मुझे नागवार लगते हैं।अर्थात ये सब मुझे बीमार करने के तरीके हैं। सेहत को नजरअंदाज कर स्वाद के लालच में फास्टफूड जंकफूड के दीवाने हो कर खाते हो, उससे कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है, जो मेरे लिए नुकसानदेह है। वैसे एक बड़ा कारण आनुवंशिक भी है।
अगर आप मुझे स्वस्थ रखने चाहते हो तो नियमित व्यायाम करिए। सूर्योदय से पहले उठकर 2-3 किमी.तेज चाल में चलिये। लगभग 45 मिनट की वॉक अवश्य करें। नहीं तो 20 मिनट की ब्रिस्क वॉक ही कर लीजिए। संतुलित आहार का कम घी, तेल चिकनाई रहित, भारी भोजन नहीं, नमक, चीनी पर कंट्रोल रखें।मोटापा न बढ़ने दें। तनाव रहित, चिंता से बच कर रहें।टेंशन मुझे बिल्कुल पसंद नहीं। परिवार का साथ और हंसने से मैं स्वस्थ रहता हूं। आजकल भोगविलास की जीवनशैली कम समय में अधिक सुखसुविधाएं कमाना चाहते हैं, औेर इस चक्कर में ना तो अच्छी तरह भोजन कर पाते हो, ना ही सोने का कोई समय है। आलस्य, उन्माद, देर रात पार्टी की वजह भी दिनचर्या बिगाड़ कर मेरा स्वास्थ्य खराब करती है। तथा मुझे रोगी बनाने की सम्भावना बढ़ाती है।इसलिय नियमित दिनचर्या अपनाकर स्वस्थ रहो। early to bed early to rise, makes a man healthy wealthy and wise.अगर मुझे स्वस्थ रखना चाहते हो,तो मेरी रक्षा के लिए पवनमुक्तासन, ध्यान, सर्वांगासन, प्राणायाम तथा सुबह की सैर आवश्यक है। 30 मिनट की कसरत मेरी बीमारी का खतरा 50% कम कर देता है। भरपूर नींदलें, अन्यथा स्ट्रेस की वजह से मेरे अटैक का खतरा बढ़ जाता है। So prevention is better than cure.
लेकिन फिर भी मुझ पर अटैक होने पर अपने तरीकों से निपटने की बजाय तुरंत मेडिकल हैल्प के लिए कॉल करें। या नजदीकी चिकित्सक के पास ले जांय। चिकित्सा सुविधा मिलने तक मुझे पीड़ित अवस्था में सीधा लिटा दें। कपड़ों को ढ़ीला कर दें। हवा आने की जगह दें। मुझे सफोकेशन पसंद नहीं है। गहरी सांस लेने दें। ये तो थी दिल की बात, इस पर न जाने कितने गाने लिख गए, कितने कुर्बान हो गए। अन्यथा फिर गाते रहना, इस दिल के टुकड़े हजार हुए कोई यहां गिरा कोई वहां गिरा। और इस असल जिंदगी की पिक्चर में फिर कोई समेटने नहीं आएगा, इसलिए इस दिल को सहेज कर रखिए। love u.

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *