सबके घर खुशहाली आये 

Home » सबके घर खुशहाली आये 

सबके घर खुशहाली आये 

By |2018-10-05T17:55:20+00:00October 5th, 2018|Categories: कविता|Tags: , , |0 Comments

इस दिवाली सबके घर जगमगाये
किसी की आँख में आंसू न आये
जो आँखे तरस गयी किसी के इंतज़ार में
उनके आँगन मिलान की बेला आये
इस दिवाली सबके घर जगमगाये
कोई भूखा न रहे, कोई तनहा न रहे
आओ सब मिलकर, खुशियों के दीप जलाये
सबका सपना पूरा हो, ना शिकवा रहे किसी से
न कोई आंसू बहाये
इस दिवाली सबके घर जगमगाये
सबके घर खुशहाली आये

Say something
No votes yet.
Please wait...

About the Author:

Leave A Comment