आज क्या कह रहा रिसाल पता चल जाए

Home » आज क्या कह रहा रिसाल पता चल जाए

आज क्या कह रहा रिसाल पता चल जाए

By |2018-10-27T11:46:44+00:00October 27th, 2018|Categories: गीत-ग़ज़ल|Tags: , , |0 Comments

माजरा क्या है जरा हाल पता चल जाये
कैसे गुजरा है उनका साल पता चल जाये!

यूं तो खुशहाल ही दिखते है दिखने के लिए
मचा अंदर है क्या बवाल पता चल जाये!!

ओ जो मुस्कान दिखाते हैं दिल में जलते है
सुलग रहा है क्या भूचाल पता चल जाये!

हामी भरते है हर एक बात में सहमते है ओ
उनके जेहन में क्या सवाल पता चल जाये!!

हमे तो लगता है मतिहीन मुहब्बत है उन्हें
दिल के उनके जरा खयाल पता चल जाये !

ऐसे तो छपती है गजले मेरी किताबों में बहुत
आज क्या कह रहा रिसाल पता चल जाये!!

– मनोज उपाध्याय मतिहीन

Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

About the Author:

मनोज उपाध्याय मतिहीन, अयोध्या नगर महासमुंद,छ.ग. पिन 493445

Leave A Comment