नारी तुम केवल श्रद्धा हो
मार्ग अवरुद्ध उन्नति का लेकिन
तुम दिखा सकती  हो सामर्थ्य अपनी
यदि तुम्हे अवसर दिया जाये
इतनी क्षमता इतना बल है
नारी तू बहुत सबल है
तेरी शक्ति को जग पहचानेगा
हो चकित जय तेरी बोलेगा
हर क्षेत्र में परचम तुझे लहराना है
नारी शक्ति है आज ये दिखाना है
जग को रास्ता देना ही होगा
अपना आसमा तुझे लेना ही होगा
प्रतिभा के लिए अवसर है ज़रूरी
नारी को अधिकार देना होगा
जब जब नारी को अधिकार मिले
विकास व् उन्नति के फूल खिले
रचा है सदैव नारी ने इतिहास
बस निकाल दे अपने जीवन से
एक शब्द ‘काश ;…

Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...