उत्तम प्राणी बनना सीखो

उत्तम प्राणी बनना सीखो

न किसी से डरना सीखो ||
न घुटनो पर चलना सीखो ||
आन मान पर बात जब आये ||
सच्चायी से लड़ना सीखो ||

न लालच में बिकना सीखो ||
न तो लय से डिगना सीखो ||
पीठ न पीछे कर के भागो ||
संघर्षो से भिड़ना सीखो ||
आन मान पर बात जब आये ||
सच्चायी से लड़ना सीखो ||

न अवगुण को बुलाना सीखो ||
न अत्याचारी घर जाना सीखो ||
मन में मैल न आने देना ||
उत्तम प्राणी बनना सीखो ||
आन मान पर बात जब आये ||
सच्चायी से लड़ना सीखो ||

ये शान कभी जाने न पाये ||
जान तुम्हारी भले ही जाये ||
आँख दिखाये अगर कोई तो ||
आँखों में आँसू भरना सीखो ||
आन मान पर बात जब आये ||
सच्चायी से लड़ना सीखो ||

शम्भू नाथ कैलाशी

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

शम्भनाथ

पिता का नाम स्वर्गीय श्री बाबूलाल गाँव कलापुर रानीगंज कैथौला प्रतापगढ़ उत्तर-प्रदेश जन्म ०७/०८/१९७४ शिक्षा परानास्तक पुस्तकालय विज्ञानं पेसा नौकरी

This Post Has One Comment

  1. हिंदी लेखक परिवार के हम आभारी है / हार्दिक आभार

    No votes yet.
    Please wait...

Leave a Reply

Close Menu