ये लम्हा फिर ना आएगा

ये लम्हा फिर ना आएगा

जी लो हर लम्हे को जी भर
ये लम्हा फिर ना आएगा
खुशी मना लो,नाच गा लो
प्यार से हर रिश्ते को निभा लो
जाने वाला वक्त गया तो
लौट फिर ना आएगा
रह जाए ना कोई ख्वाइश अधूरी
कर लो आज ही,सारे काम जरूरी
छोड़ो ना कल पर राम नाम भी
जीवन परिवर्तनशील है यारों
ये ढलता ही जाएगा
ये लम्हा लौट ना आएगा
ये लम्हा फिर ना आएगा

Rating: 4.0/5. From 2 votes. Show votes.
Please wait...

Sunita Katyal

writer and poet

Leave a Reply

Close Menu