वतन का क्या होगा गुलफाम

Home » वतन का क्या होगा गुलफाम

वतन का क्या होगा गुलफाम

By |2018-01-20T17:09:05+00:00March 16th, 2016|Categories: कविता|1 Comment
भारत के सैनिक हत्यारे , अफजल गुरु महान
आतंकी याक़ूब का करते ,मिल के गौरव गान
महिषासुर का दिवस मनाते , फांसी पे श्री राम
जो अपनों को मारे उनको देते लाल सलाम………वतन का क्या होगा गुलफाम
 
खाल बचानी हो तो माने यहाँ का संविधान
भारत माता की जै कहने पर चुप रहे ज़ुबान
तीन तलाक व चार निकाह पे राजी है श्रीमान
अपनी शरियत को ही माने सबसे बड़ा विधान ……वतन का क्या होगा गुलफाम
 
मंदिर में घंटे बंद करते , चलती रहे अज़ान।
हज पे सब्सिडी ,अमरनाथ पे देना पड़े लगान
राष्ट्रगान न बन पाये जिसमे माँ का गुणगान
अंग्रेज़ो की जय हो जिसमे राष्ट्र का है वो गान  …वतन का क्या होगा गुलफाम
 
मनोज”मोजू”
Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

About the Author:

One Comment

  1. Andaaz Amrohvi January 30, 2018 at 11:39 am

    वाह !!!

    Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
    Please wait...

Leave A Comment

हिन्दी लेखक डॉट कॉम

सोशल मीडिया से जुड़ें ... 
close-link