एक हवाई जहाज एक घनघोर पहाड़ी , बर्फ के जंगलों के ऊपर आसमान को चीरता हूआ मन की गति की रफ्तार से भी तेज सफेद दूधिया बादलों के नीचे घुरूम – घुरूम की आवजे निकालकर हवाई यात्रा कर रहा है ।
तभी उसी जंगल मैं एक मध्यम रंग का मासूम सा तेरह -चौदह साल की उम्र जैसा दिखाई देने वाला बच्चा , जिसके सर के लंबे बाल कानों , माथे , व गर्दन तक आये हुए है , आँखें उसकी सूरज के दोपहरी जैसी सफेद , व रात के अंधेरे जैसी काली हैं ,
उसने अपने शरीर पर वस्त्र के नाम पर सिर्फ एक U आकर का UNDER WEAR पहना हुआ है , उस बालक की ऐसी काया है जो देख ले तो नजर ना हटे ।
वह बालक बीच जंगल मैं खड़ा ऊपर आसमान की तरफ अपनी ओर आते हुए उस हवाई जहाज को देख रहा है , वह भी उस हवाई जहाज को पकड़ने के लिए उसी दिशा मैं हवा की गति की रफ्तार से भी तेज बिना जमीन को नीचे देखें दौड़ लगाता है , शायद लगता है उसे , उस जंगल के पग – पग के रास्तों का मालूम है ।
वह अपने कदमों को कभी बिल्कुल सीधे चल रहे रास्तों पर रखता है तो कभी उसके समकक्ष पत्थरो से छलाँग लगाते हूआ उस जहाज से आगे बढ़ता है , वह उस जंगल मैं उन बरगदो के पेड़ो के लंबी – लंबी डालियों को एक हाथ से दूसरे हाथ मैं मजबूती से पकड़ कर आगे बढ़ता रहता है , अब भी उसकी नजर आसमान मैं चल रहे जहाज से हटी नही है ,
कभी जंगलो के बीच का सीधा रास्ता तो कभी ऊँची -ऊँची पहाड़ियों पर तेज रफ्तार से आगे बढ़ता हुआ , वह उन पहाड़ो पर फैल रही चारो ओर सफेदपोश बर्फ़ को चीरता हूआ अपने लक्ष्य से बिना नजरें हटाये हवा की गति के तेज़ रफ़्तार से भी आगे दौड़ता रहता है , तभी आगे एक आसमान को छूती हूई पहाड़ी , से नीचे की तरफ जैसे किसी समुन्द्र मैं चल रही लहरों जैसी एक दुधिया झरना बह रहा है , वह बालक उस पहाड़ी के झरने के ऊपर जैसे ही पहूँचता है वह उस हवाई जहाज को पकड़ने के लिए वहाँ से वह एक चीते जैसी , अपने दोनों हाथों को आगे की ओर बढ़ाते हुए एक लंबी छलाँग लगाता है ,
आसमान मैं तेज गति से दौड़ता हुआ जहाज उस बालक से आगे निकल जाता है , और वह बालक नीचे बह रहे समुन्दर की गहराईयो से ऊपर की ओर निकलते हुए उस जहाज को अब भी पकड़ने के लिए गोता लगाते हुए तैरता है , तभी आसमाँ मैं उड़ रहे जहाज से एक लाल रंग की गेंद नीचे गिरतीं है और वह बालक उस गेंद को अपनी मुठ्ठी मैं पकड़ लेता है ।

क्रमशः जारी —

Writing by-
श्याम सिंह बिष्ट

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *