दीवाना

दरवाजे बंद हों या खुले
रिश्तों की महक कम नहीं होती
रिश्ते ताउम्र चलते हैं
एकतरफा होने पर भी
बस उन्हें निभाने के लिये
थोड़ा सा इत्मीनान
थोड़ी सी संजीदगी चाहिए
तेरा इंतजार रहेगा
तुझपे ऐतबार रहेगा
उम्मीद की एक किरण पलकों की
चिलमन पे झिलमिलाती रहेगी
तेरी याद कभी तस्वीर, कभी दृश्य, कभी वृतांत तो
कभी जीवन का सारांश बन
दिल की झील में
हवा की लहरों सी
लहराती रहेगी
तेरे घर की देहरी पे ही निकलेगा
अपना तो दम
मरने के बाद भी एक दीवाने को
वीराने में गूंजती शहनाइयों की
आवाज आती रहेगी।

मीनल

No votes yet.
Please wait...

Leave a Reply

Close Menu