ईश्वरीय समाधान

ईश्वरीय समाधान

मन की आंख से पढ़ रही मैं
जीवन की किताब
न कोई फूल है
न कोई बगिया है
न कोई तितली है
न कोई चिड़िया है
न कोई सखियां हैं
न कोई परियां हैं
न कोई सूरज है
न चाँद सितारे हैं
न पहाड़ न दरिया
न समुंदर न किनारे
न कोई खूबसूरत मंजर
न कोई हसीन नजारे हैं
मेरे आसपास
बस मैं हूं
मेरा जीने का सामान है
मेरा दोस्त है
मेरा ज्ञान है
मेरी दुनिया है
मेरा ब्रह्माण्ड है
मेरे मन से जुड़ा
एक दूर देश जाता
कोई मार्ग है
मेरे जीवन की हर
पहेली सुलझाता
मेरे मार्ग की हर बाधा को
मिटाता
कोई अदृश्य अति ताकतवर अलौकिक
ईश्वरीय समाधान है।

मीनल

Rating: 4.0/5. From 2 votes. Show votes.
Please wait...

Leave a Reply

Close Menu