राजा गोप गुपग्गम दास

(राजा गोप गुपग्गम दास)
राजा गोप गुपग्गम दास ,
राजा गोप गुपग्गम दास,
राजा गोप गुपग्गम दास,
जल्दी- जल्दी बोलो ।
जल्दी -जल्दी होंगे पास ,
राजा गोप गुपग्गम दास ।

अटके अगर गुपग्गम पर,
इतराओगे किस दम पर,
बोलो दस गुपग्गम गोप ,
राजा नहीं रहा अब तोप,
गुपग्गम गोप !गोपग्गम गोप!
अटके अगर गुपग्गम पर ,
भूल जाओगे अपना घर,
चकराएगा दिन भर सर,
छोड़ो अच्छा गोप को ,
छोड़ा जैसे तोप को ,
बोलो सिर्फ़ गुपग्गम दास ,
गुपग्गम गोप ! गुपग्गम गोप !

मुश्किल है गर दास को ,
सिर्फ़ गुपग्गम बोलो जी ,
सिर्फ गुपग्गम । गुपग्गम ।
सिर मटके तो मटके ,
लेकिन जीभ न अटके ,
गुपग्गम । गुपग्गम ।
हो ।गुपग्गम !गुपग्गम!
हो , हो ।!गुपग्गम !गुपग्गम !
— नवीन सागर

No votes yet.
Please wait...

Leave a Reply

Close Menu