थाल सजा के चलो पूजने

थाल सजा के चलो पूजने ॥
पूजन आज दिवाली ॥

ख़ुशी बयरिया बाग़ में झूमे ॥
मंगल गाये हरियाली ॥

आज अमावश्य शुभ बोलेगा ॥
घर में लक्ष्मी आयेगी ॥

हाथ में लेके फुलझड़ियाँ ॥
बेटी खूब मुस्कायेगी ॥

खूब तमाशे छूटेंगे जब ॥
हँसे गी अद्भुत क्यारी ॥

थाल सजा के चले पूजने ॥
पूजन आज दिवाली ॥

ख़ुशी बयरिया बाग़ में झूमे ॥
मंगल गाये हरियाली ॥

हँसी ख़ुशी बटोरेंगे खूब ॥
दुःख दरिद्र न आयेगा ॥

कोई घटना घटित न होगी ॥
न महाप्रलय डरवायेगा ॥

सब के चेहरे खिले रहेंगे ॥
हँसेगी आभा प्यारी ॥

थाल सजा के चलो पूजने ॥
पूजन आज दिवाली ॥

ख़ुशी बयरिया बाग़ में झूमे ॥
मंगल गाये हरियाली ॥

शम्भू नाथ कैलाशी

No votes yet.
Please wait...

शम्भनाथ

पिता का नाम स्वर्गीय श्री बाबूलाल गाँव कलापुर रानीगंज कैथौला प्रतापगढ़ उत्तर-प्रदेश जन्म ०७/०८/१९७४ शिक्षा परानास्तक पुस्तकालय विज्ञानं पेसा नौकरी

Leave a Reply

Close Menu