खुली आंखों से

खुली आंखों से

यह दुनिया
दिखती
एक बंद आंख से ही है
दोनों खुली आंखों से देखो
तो मौत आ जाती है
मौत जिन्दगी से ज्यादा
खूबसूरत होती है
जरा सा हंसकर देखो तो
दौड़कर गले लगाती है
एक हसीना सी
बेवफा भी है
एक बार मिल क्या जाये
खुद को ही
छोड़कर
तिलांजलि देकर
कहीं दूर देश
गुप्त स्थान पर
भ्रमण के लिये
निकल जाती है।

मीनल

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

This Post Has 2 Comments

  1. Good

    No votes yet.
    Please wait...
  2. Thanks

    No votes yet.
    Please wait...

Leave a Reply

Close Menu