इजहार करेगा

दे कर गुलाब हाथ में ॥
इजहार करेगा ॥
आ कर हमारे पास ॥
दिल की बात कहेगा ॥
दिल का बाण मेरे दिल पर ॥
चलायेगा ॥
होठो पर आज चुम्बन ॥
दिलवर लगायेगा ॥
हुस्न की खुश्बू पा के ॥
आहे भरेगा ॥
आ कर हमारे पास ॥
दिल की बात कहेगा ॥
जलेगी प्रेम ज्योति ॥
हम दोनों ही जलायेगे ॥
बाहो में समेट कर ॥
प्रेम बाग़ को दिखायेगे ॥
पथ पदर्शक बन कर ॥
सदा साथ चलेगा ॥
आ कर हमारे पास ॥
दिल की बात कहेगा ॥

शम्भू नाथ कैलाशी

No votes yet.
Please wait...

शम्भनाथ

पिता का नाम स्वर्गीय श्री बाबूलाल गाँव कलापुर रानीगंज कैथौला प्रतापगढ़ उत्तर-प्रदेश जन्म ०७/०८/१९७४ शिक्षा परानास्तक पुस्तकालय विज्ञानं पेसा नौकरी

Leave a Reply

Close Menu