ईश्वर को मत भूलो

बन्दे क्यों तू भूल रहा है ||
भगवन के मीठे नाम को।।
जिसने दिया है चाम को।।

पल पल वे है साथ तुम्हारे।।
संकट में तेरे प्राण उबारे ||
सच की डगर पकड़ ले बबुवा।।
छोड़ अभी अभिमान को।।
बन्दे क्यों तू भूल रहा है ||
भगवन के मीठे नाम को।।

अच्छे अच्छे काम करो।।
मीठे मीठे बोलो बोल।।
समय संग चलना अब सीखो।।
मन की अंधी खिड़की खोल।।
काम क्रोध मद लोभ छोड़ दो ।।
समझ सको इंसान को।।
बन्दे क्यों तू भूल रहा है ||
भगवन के मीठे नाम को।।
मंदिर मस्जिद का झगडा छोडो।।
धर्म से नाता जोड़ो।।
सब प्राणी है उन्ही प्रभु के ||
किसी का मन न तोड़ो।।
अहंकार को पी जाओ तुम।।
ख़त्म करो संताप को।।
बन्दे क्यों तू भूल रहा है ||
भगवन के मीठे नाम को।।

शम्भू नाथ कैलाशी

No votes yet.
Please wait...

शम्भनाथ

पिता का नाम स्वर्गीय श्री बाबूलाल गाँव कलापुर रानीगंज कैथौला प्रतापगढ़ उत्तर-प्रदेश जन्म ०७/०८/१९७४ शिक्षा परानास्तक पुस्तकालय विज्ञानं पेसा नौकरी

Leave a Reply

Close Menu