भगवान से गुफ्त़गू

भगवान से गुफ्त़गू

By | 2018-01-20T17:08:51+00:00 April 17th, 2016|Categories: कविता|Tags: |0 Comments

जमीं पर नहीं बचा आशियाना
चलो आसमान बाँट लेते हैं !
अपनी जरूरतों के हिसाब से
थोड़े प्लॉट काट लेते हैं !!

फ़िर रोज़ मुलाकातें होंगी भगवान से
हम भी जिया करेंगे शान से !
बस इक छोटी सी बस्ती बसायेंगे
किराया भी देंगे ईमान से !!

आपकी ज़द मे पूरा आसमान है
आप हो कम लोग, कितने मकान हैं !
धरती पर बड़ी भीड़ है प्रभु
कईयों को तो मुहाल कब्रिस्तान है !!

आसमान अनन्त है, विशाल है
बस दो-चार प्लॉट का सवाल है !
आपके पास रहेंगे, तर जायेंगे
धरती पर इंसान बदहाल है !!

– मनीष सिंह “वंदन”

Comments

comments

Rating: 2.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
Spread the love
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

About the Author:

Leave A Comment