जाने क्यों मुझको याद है

जाने क्यों मुझको याद है

By | 2017-07-21T07:32:35+00:00 July 20th, 2017|Categories: आलोचना|0 Comments

जो चला गया मुझे कल छोड़ के वो आज भी मुझको याद है|
जो कल खुआवों  मै आया था वो आज भी मुझको याद है|
जो हर मुझे रात जगाता है वो आज भी मुझको याद है|
जिसने कल नींद चुराई थी वो आज भी मुझको याद है|
कल जिसने मुझे तड़पाया था वो आज भी मुझे तड़पता है और आज भी मुझको याद है|
वो चला जाए कितनी दूर ही पर वो रहता मुझको याद है|
जिसने कल मुझे ठुकराया था मुझे आज भी मुझको याद है|
मै कल जिसके सामने रोया था वो आज भी मुझको याद है|
ये मुझसे थोड़ा सा रूठ गया पर आज भी मुझको याद है|
ये कुछ दिन पहले मुझसे बिछड़ गया था पर कल भी मुझको याद था और आज भी मुझको याद है|
जो चला गया मुझे कल छोड़ के वो आज भी मुझको याद है|
वो कल भी मुझको याद था और आज भी मुझको याद है|
और आता हर पल मुझे याद है|

Comments

comments

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

About the Author:

Leave A Comment