नानी मां

Home » नानी मां

नानी मां

By | 2017-12-09T20:05:07+00:00 December 9th, 2017|Categories: कविता|Tags: , , |0 Comments

नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
बंदर बिल्ली की कहानी से हम बहलाओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
खट्टे हैं अंगूर बताकर लोमड़ी सा फुसलाओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नहीं सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
कछुए की तरकीब अब हम पर तुम आज़माओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
प्यासे कौवे की लगन हम को तुम समझाओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
चूहे बिल्ली की आंख मिचोली से हमको तुम भरमाओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
खरगोश की चतुराई शेर पर आजमाओ ना नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
हम हैं आजकल के बच्चे पुराने पेंच चलाओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
गूगल पर तुम सर्च करो नई स्टोरी बताओ ना
नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना
🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃
कीर्ति अनुराग अग्रवाल

Comments

comments

Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

About the Author:

Leave A Comment