राताँ वरगे काले दिन

राताँ वरगे काले दिन

। । ओ३म् । ।

* मेरा सुविचारित मत है कि अपने देश भारत की सत्ता के सूत्र आज जिन हाथों ने संभाले हैं उन्हें अपने मन की कहने और करने के लिए कम-से-कम पंद्रह साल मिलने चाहिएं । और, लेखकों, कवियों, पत्रकारों, फिल्मकारों व बुद्धिजीवियों का दायित्व है कि जहां भी उनके कदम टेढ़े पड़ने लगें, उन्हें टोकें व रोकें ।

टोकने और रोकने की ही एक कोशिश है यह गीत ।

और हां, भाषा मेरी पंजाबी है । *

( पँचकूला, हरियाणा निवासी रेडियो – टी.वी. कलाकार, वय से वृद्ध मन से युवा श्री इन्द्रजीत शर्मा जी को समर्पित है यह गीत ; उन्होंने ही प्रेरित किया था नोटबदली पर कुछ लिखने के लिए )

* * * राताँ वरगे काले दिन * * *
——————————–
राताँ वरगे काले दिन
अज्ज गए ते कल गए

मसाँ मुकाइयाँ गाजरां
ढिड्डीं पै – पै वल गए

तकदीरां ओहिओ डुसकदियाँ
नोट सारे बदल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

बागीं बोलण मोर – पपीहे
अग्नि राग मसाणीं खुल्ल छिड़या

जांदी रुत्ते फुल्ल इक खिड़या
रंग केसरी फुल्ल खिड़या

लोकां भाणे रब दी माया
ढलदे सूरज दे रंग मचल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

जोगी होया मन मेरा
तैनूं मंन के रब ध्याँवदा

पलकाँ बूहे साहाँ दा सेक
ठंड कलेजे पाँवदा

जिन्हां दे गाए गीत असां ने
ओहिओ करके छल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

गुड्डियाँ पटोले भुज्जे छोले
निक्कियाँ – निक्कियाँ खेडतां

बेरियाँ दे बेरां वांगूँ
भुँजयों चाइये नेमतां

जिस – जिस पाइयाँ जफ्फियाँ
अंग उसे दे छिल – छल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

आपे चुल्ला फूकदे
आपणे आप प्राहुणे सां

इक सी राजा इक मूरख दे
खेड ते असीं खिडौणे सां

अज्ज हर मोड़ ते राजा खड़यै
खेडां दे नियम बदल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

पाणी झुग्गा गालया
पाणी बाझों दुरगत झोने दी

न मैं माड़ी न मेरा देस माड़ा
चिड़ी अखावे सोने दी

माड़े हो गए क्यों जो
माड़याँ दी कर नकल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

सज – सँवर के घुँड कढ्ढ लैंदी
चज्ज सारे तेरे जचणे नूँ

रुत्त बदली ते जिंद दे वेहड़े
आइयाँ खुशियां नचणे नूँ

तेरे लारयाँ दे सदके
वक्तों पहलां परछावें ढल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . .

तेरी होई मैं तेरी होई
न होया मुकलावा

बुढ्ढी होसां दूजा न करसां
न करसां पछतावा

तैथों पहलां जेहड़े बौहड़े
सब सुफने कर क़तल गए

राताँ वरगे काले दिन . . . . . ।

१९-२-२०१७ –वेदप्रकाश लाम्बा
०९४६६०-१७३१२

Comments

comments

No votes yet.
Please wait...
Spread the love
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    4
    Shares

Leave A Comment