दो बूँद जिंदगी की (पोलियो ड्राप्स)

दो बूँद जिंदगी की (पोलियो ड्राप्स)

By | 2018-03-14T22:54:00+00:00 March 14th, 2018|Categories: कविता|Tags: , , |0 Comments

दो बूँद जिन्दगी की (पोलियो ड्राप्स)

 

फिर आ गया पोलियो रविवार

लाओ हर बच्चा इस बार,हर बार,बार-बार

ये दो बूँद अमृत से कम नहीं

पिलाओ सबको रह न जाये बच्चा एक भी।

दो बूँद जिन्दगी की

जन्म से पाँच साल तक के बच्चे है हकदार इसके

मात्र दो बूँद से पोलियो मिट जायेगा जड़ से

और भाग जायेगा पूरे देश से

इसलिए सोचो न विचारो समय न गवाँओ

झट से हर बच्चा इस बार,हर बार,बार बार

पोलियो वूथ पर लाओ और पिलाओ।

दो बूँद जिन्दगी की

रेडियो,पेपर, टीवी,पर एड कर रहे है

अमिताभ जीऔर कई बड़ी बड़ी हस्ती

तो क्यूँ चुप हैं श्रीमान श्रीमती जी

ये मुफ्त की सेवा है जी

तो देर ना  करो कोई भी

ले आओ हर बच्चा इस बार, बार बार, हर बार

और पिलाओ दो बूँद जिंदगी की

 

हर तिमाही के रविवार को अभियान चलता है

या तो बूथ पर या घर पर इंतजाम होता है

तो क्यों आलस करे कोई भी

भारत सरकार द्वारा जनहित में जारी

होनी चाहिए इसमें सबको भागीदारी

बूथ पर न जाकर तो घर पर ही सही

पिलाओ हर बच्चे को इस बार हर बार बार बार

दो बूँद जिन्दगी की।

पारुल शर्मा

Comments

comments

No votes yet.
Please wait...
Spread the love
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    7
    Shares

About the Author:

लिखना मेरी रग रग में है

Leave A Comment