आधार बना दो

Home » आधार बना दो

आधार बना दो

By | 2018-04-14T12:16:19+00:00 April 14th, 2018|Categories: कविता|Tags: , |0 Comments

अरे कोई इनको भी बतला दो,
भारत मे भी शिक्षा भोजन मुफ्त है,
घर-बार नही जब तब यह  टीवी कहां से लायेंगे?
क्योँकि नेता तो टीवी पर ही जागृति अभियान चलायेंगे।
देश के हर संकट मे सैनिक ही काम आते हैं;
सैनिको तुम ही यह आभियान चला दो,
रह जाती हैं जो कागजों पर स्कीमे,सुविधाएं
उन्हे व्यवहारिक रूप दिला दो,
जो भी मिले बेघर उसका आधार बना दो;
ना घर-पहचान हो तो पता हिंदुस्तान बता दो|
यारो इनको भी सहीरुप मे नागरिक बना दो|

Comments

comments

Rating: 3.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
Spread the love
  • 7
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
    8
    Shares

About the Author:

Leave A Comment