पत्रिका में रचना प्रकाशन के नियम

Home » पत्रिका में रचना प्रकाशन के नियम

पत्रिका में रचना प्रकाशन के नियम

By |2017-02-21T01:32:42+00:00December 29th, 2016|Categories: सम्पादकीय|0 Comments
  • हिन्दी लेखक डॉट कॉम की वेब पत्रिका “अनुभव” का जनवरी २०१७ अंक प्रकाशित |
  • हिन्दी लेखक डॉट कॉम की वेब पत्रिका “अनुभव” का अगला अंक १२ से १८ फरवरी के बीच  प्रकाशित होगी |
  • अगला अंक फरवरी एवं मार्च का संयुक्त अंक होगा |
  • रचना भेजने की अंतिम तिथि : ११  फरवरी  २०१६
  •  रचनाएँ  Email करने के लिए : patrika@hindilekhak.com
  • पूर्व प्रकाशित अंकों को पढ़ने के लिए नीचे दिए पत्रिका की तस्वीरों पर क्लिक करें …

हिन्दी लेखक वेब पत्रिका में रचना प्रकाशन के नियम : – 

  • रचनाएँ टाइप की होनी चाहिए, फोटो या हस्तलिखित रचनाएँ स्वीकार नहीं किए जाते हैं |
  • रचना या तो फॉण्ट Kruti Dev में होनी चाहिए अथवा unicode (Mangal, Indic fonts आदि )  में ( किसी अन्य फॉन्ट्स में प्राप्त रचनाओं के लिए सूचना दी जाएगी, जिसे आप ठीक करके भेज सकते हैं )
  • रचना  मौलिक हो अथवा मौलिक रचनाकार का नाम अवश्य दिया गया हो
  • रचना का एक उचित शीर्षक दिया गया हो और रचना की विधा अवश्य बताई गई हो, अन्यथा रचना स्वीकृत नहीं होगी |
  • रचना का सर्वाधिकार मौलिक लेखक के पास सुरक्षित होगा तथा रचना के विषय वस्तु के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी होंगे |
  • भेजी गई रचनाएँ वेबसाइट पर भी प्रकाशित किए जाएँगे |
  • एक विधा में एक व्यक्ति की एक ही रचना प्रकाशित की जाएगी |
  • रचना के साथ लेखक का नाम, फोटो, ईमेल और मोबाइल संख्या आवश्यक है| ( सुरक्षा की दृष्टि से ईमेल / मोबाइल सं० प्रकाशित नहीं किया जाएगा )|
  • रचनाएँ निर्धारित तिथि तक नहीं मिलने पर, रचना अगले अंक के लिए मान्य होगी |
  • हिन्दी साहित्य की हर विधा की रचना प्रकाशित की जाएगी |
  • एक ही विधा की प्रकाशनार्थ रचना की बहुलता होने पर, हिन्दी लेखक पत्रिका टीम का निर्णय सर्वमान्य होगा |
  • hindilekhak.com पर प्रकाशित रचना  और सबसे ज्यादा  star rating  व comments पाने वाले रचनाओं को प्राथमिकता दी जाएगी |
  • अधूरी रचनाएँ स्वीकृत नहीं होंगी |
  • रचनाएँ पसन्द नहीं आने पर पत्रिका में प्रकाशित नहीं करने का अधिकार पत्रिका टीम के पास सुरक्षित है |
Say something
Rating: 5.0/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...

About the Author:

Leave A Comment