आन का सवाल

Home » आन का सवाल

आन का सवाल

By |2017-08-17T12:55:19+00:00August 17th, 2017|Categories: कविता|0 Comments

आन का सवाल…….

 

देखती रह जाये दुनिया

बनानी ऐसी मिसाल है

जीत कर रहना है अब तो

आन का सवाल हैं…….

 

इरादे नेक,मकसद पाक

पावन साफ है

सब है बराबर

ऐसा ये इन्साफ है

दिन्दगी के गम मिटा दे ऐसा इक ख्याल है

जीत कर रहना है अब तो आन का सवाल है,

 

चन्द चेहरो ने अपनी मॉ को ही ललकारा है

जीत कर उनको यह कह दो यह लो जबाब हमारा है

हम भी अपनी भारत मॉ के वीर सच्चे लाल है

जीत कर रहना है अब तो आन का सवाल है,

 

आज अपने इरादों को इतना फौलादी बना दो

जीतने का जोश भरकर पूरी दुनिया को हिला दो

हम सब की परिछा का अब आ गया इक साल है

जीत कर रहना है अब तो आन का सवाल है,

 

खुद पर भरोसा करने वाले आगे निकल जाऐंगे

ऑख उठाने वाले देखते रह जाऐंगे

वीर संग चलने वाले हो जाते निहाल है

जीत कर रहना है अब तो आन का सवाल है…

Say something
Rating: 0.5/5. From 1 vote. Show votes.
Please wait...
मु.जुबेर हुसैन बी.एस.सी (पॉर्ट-1 ,appearing) एस.बी.एस.एस.पी.एस. जनजातिय महाविद्यालय, पथरगामा गोड्डा,झारखण्ड,814147

Leave A Comment