जनवरी २०२० अंक का PDF प्राप्त करने के लिए व्हाट्सप्प संख्या 7827663541 पर संपर्क करें

कविता / गज़ल ( पद्य )

बचपन – सर्वेश जायसवाल
चाहत – अविनाश कुमार
फ़ूल हो तुम खार मैं – अभिलाज
सीखें – भोलाराम सिन्हा “गुरुजी”
देश ये अखंड धरा – पंकज कुम्हार
धर्म के वो कातिल थे – बीरेंद्र सिंह अठवल
नया वर्ष – स्वाति सिन्हा
हिम – मोती प्रसाद साहू
संकल्प लिया है मैंने – डा. अंजु लता सिंह
नया सवेरा होने को है – लव कुमार लव
रश्मियां – विद्या शर्मा
नववर्ष मंगलमय हो – डॉ. गोपाल निर्दोष
इश्क में – प्रभजोत कौर
गाँव और शहर – मनकेश्वर महाराज “भट्ट”
हिमाचल का गौरव – राज शर्मा आनी
नववर्ष सदा मंगलमय हो – डॉ. किरण बाला
हमारी तरह – आरती पटेल
चलो घूम आयें. – व्यग्र पाण्डे
मर्यादा – डॉ. रश्मि सोनकर
मुबारक हो नया साल – वीरेन्द्र कौशल
ठिठुरती भोर – अंकित शर्मा ‘इषुप्रिय’
फैसले की घड़ी – राजेश कुमार शर्मा “पुरोहित”
बहुत याद आते हैं – कल्पना महाराणा जी
नववर्ष के आगमन पे – डॉ. मीनल अग्रवाल
खत एक फौजी का – भानुप्रताप कुंजाम ‘अंशु’
सबसे आगे – नूतन गर्ग
एक मोड़ – नूपुर बासु
प्रकृति संरक्षण – शारदेन्दु कश्यप
नव वर्ष का विहान – विनोद कुमार मिश्र
नव वर्ष – गोदांबरी नेगी
युग पुरुष – बन्दना घोष
बदल गए हो दोस्त – विक्रम कुमार
अकेलापन भाने लगा – आशुतोष
तन्हा सफर – पुखराज सोलंकी
इल्तिजा – अजय कुमार शर्मा
मैं ठीक हूं ईश्वर – पंडित विनय कुमार
एक बेरोजगार का चाँद – रंजना मजूंमदार
नववर्ष 2020 – मिनाक्षी कुमारी
नववर्ष आया – वन्दना नामदेव
नववर्ष-एक नयी किरण – नेहा अवस्थी मिश्रा
हमने तो बस इतना जाना – अमित ‘अहद’
मैंने देखा है भगवान को – देवेन्द्रराज सुथार
हो चुकीं हैं आवाजें आजाद – पंकज मिश्र ‘अटल ‘
दर्द – निक्की शर्मा’रश्मि’
जनवरी है आई – भारत भूषण पाठक
मत किया करो – राहुल प्रजापति
समय की मार – अजय एहसास
प्रिय पापा – रीमा मिश्रा
जनवरी – श्रद्धा जैन
मंदिर वहीं बनाएंगे – ओम प्रकाश झा
पहली बार – शुभम पांडेय गगन
बेचैन आंखों – सत्य प्रकाश
हम लड़के है – विजय कुमार “साखी”

कहानी/संस्मरण/लघु कथा ( गद्य )

एक पल की दुल्हन – उदयकिशोर साह
मुश्किल नहीं है याद करना – ओमप्रकाश क्षत्रिय “प्रकाश”
सपनों की मंजिल – डॉ. रश्मि नायर
प्रदूषण – मशाहिद अब्बास
हेनन और मैं – लोकेश गुलयानी
हिन्दी उपन्यासों में आर्थिक विमर्श – डॉ.मोहन सिंह यादव
बैकिंग के क्षेत्रों में महिलाओं का बढ़ते कदम – ज्योति कुमारी
मुझे नहीं पता था कि वह आखिरी मुलाकात है – डॉ.कविता नन्दन
सुधार गृह – वंदना पुणतांबेकर
छोटी लड़की से छोटी बहन तक का सफर – विनय मिश्र
प्यार करना जुर्म है या नहीं – ओम नारायण
बेटियां अनमोल हैं – प्रवीण आज़ाद
माथे की मणि – बबीता कंसल
हिन्दी साहित्य का बहुमुखी व्यक्तित्व के धनी : प्रो0(डॉ)छेदी साह – कमलाकांत कोकिल+ राजीव नयन”
ऐटिट्यूड वाली लड़की – संतोष कुमार वर्मा “कविराज”
नए साल का संकल्प – धर्मिष्ठा
नये वर्ष का एजेंडा: विचार व संकल्प – गजानन पाण्डेय
Close Menu