जून अंक के लिए रचनाएँ  भेजें । 
अनुभव मई २०२०

“अनुभव” पत्रिका सम्बंधित जानकारी …

नव प्रकाशित अंक डाउनलोड करें

  • हिन्दी लेखक डॉट कॉम की वेब पत्रिका “अनुभव” का मई  २०२० अंक प्रकाशित ( पीडीऍफ़ पाने के लिए 7827663541 पर व्हाट्सएप्प सन्देश भेजे। )
  • हिन्दी लेखक डॉट कॉम की वेब पत्रिका “अनुभव” का अगला अंक जून २०२० में प्रकाशित होगा …
  • यह अंक विशेषांक नहीं है।  
  • रचना भेजने की अंतिम तिथि : २५ मई २०२०
  •  रचनाएँ  Email करने के लिए: anubhav@hindilekhak.com

अन्य प्रकशित अंक डाउनलोड करने के लिए –

मार्च २०१९अप्रैल २०१९  | मई २०१९  | जून २०१९ | जुलाई २०१९ | अगस्त २०१९ | सितम्बर २०१९ | अक्टूबर २०१९ | नवंबर-दिसंबर २०१९   
अनुभव - अंक 1 | अनुभव - अंक 2 | अनुभव - अंक 3 | अनुभव - अंक 4 | अनुभव - अंक 5 | अनुभव - अंक 6 | अनुभव - अंक 7 | अनुभव - अंक 8 | अनुभव - अंक 9 | अनुभव - अंक 10 |अनुभव - अंक 11 

 

“अनुभव” वेब पत्रिका के लिए रचना भेजने से पहले नियमों को अवश्य पढ़ लें : – 

१. #अनुभव पत्रिका के लिए रचना कोई भी ( भारतीय अथवा अभारतीय ) भेज सकता है ।
२. रचना के साथ लेखक का नाम, फोटो, ईमेल और मोबाइल संख्या आवश्यक है। ( सुरक्षा की दृष्टि से ईमेल / मोबाइल सं० प्रकाशित नहीं किया जाएगा )।
३. एक विधा में एक व्यक्ति की एक ही रचना प्रकाशित की जाएगी ।
४. एक लेखक कृपया एक ही रचना जमा करें ।
५. हिन्दी साहित्य की हर विधा ( कहानी, कविता, संस्मरण इत्यादि ) की रचना मान्य है।
६. रचनाएँ टाइप की होनी चाहिए, फोटो या हस्तलिखित रचनाएँ स्वीकार नहीं किए जाते हैं ।
७. रचना या तो फॉण्ट Kruti Dev में होनी चाहिए अथवा unicode ( Mangal, Indic fonts आदि ) में ।
८. रचना मौलिक हो अथवा मौलिक रचनाकार का नाम अवश्य दिया गया हो।
९. रचना का एक उचित शीर्षक दिया गया हो और रचना की विधा अवश्य बताई गई हो, अन्यथा रचना स्वीकृत नहीं होगी ।
१०. रचना का सर्वाधिकार मौलिक लेखक के पास सुरक्षित होगा तथा रचना के विषय वस्तु के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी होंगे ।
११. किसी वेबसाइट, पत्रिका, पुस्तक इत्यादि में पूर्व प्रकाशित रचनाएँ #अनुभव पत्रिका के लिए मान्य नहीं होगा।
१२. भेजी गई रचनाएँ वेबसाइट( hindilekhak.com ) पर प्रकाशित किए जाएँगे ।
१३. रचनाएँ निर्धारित तिथि तक नहीं मिलने पर, रचना अगले अंक के लिए पुनः भेजे जा सकते हैं।
१४. एक ही विधा की प्रकाशनार्थ रचना की बहुलता होने पर, हिन्दी लेखक #अनुभव पत्रिका टीम का निर्णय सर्वमान्य होगा।
१५. अधूरी रचनाएँ स्वीकृत नहीं होंगी ।
१६. #अनुभव पत्रिका में प्रकाशित रचनाओं के लिए कोई भी पारिश्रमिक देय नहीं है ।
१७. रचनाएँ पसन्द नहीं आने पर #अनुभव पत्रिका में प्रकाशित नहीं करने का अधिकार पत्रिका टीम के पास सुरक्षित है।