नमस्कार!   रचनाएँ जमा करने के लिए Login करें अनुभव पत्रिका · हिन्दी लेखक डॉट कॉम

अनुभव पत्रिका

ताज़ा प्रकाशित अंक डाउनलोड करने के लिए – अनुभव – अंक 11

अन्य प्रकशित अंक डाउनलोड करने के लिए –

अनुभव – अंक 1 | अनुभव – अंक 2 | अनुभव – अंक 3 | अनुभव – अंक 4 | अनुभव – अंक 5 | अनुभव – अंक 6 | अनुभव – अंक 7 | अनुभव – अंक 8 | अनुभव – अंक 9 | अनुभव – अंक 10 |अनुभव – अंक 11 

अनुभव पत्रिका अपने ईमेल में प्राप्त करने के लिए अपना ईमेल जमा करें …

 “अनुभव” पत्रिका सम्बंधित जानकारी …
  • हिन्दी लेखक डॉट कॉम की वेब पत्रिका “अनुभव” का अगस्त अंक  प्रकाशित …
  • हिन्दी लेखक डॉट कॉम की वेब पत्रिका “अनुभव” का अगला अंक सितम्बर( दुसरे सप्ताह ) में प्रकाशित होगा …
  • इस अंक के लिए कोई निर्धारित विषय नहीं है … परन्तु आने वाले हिन्दी दिवस एवं हिन्दी पखवाड़े को ध्यान रचनाएँ लिखी जा सकती हैं
  • रचना भेजने की अंतिम तिथि : 5 सितम्बर   २०१7 …
  •  रचनाएँ  Email करने के लिए : patrika@hindilekhak.com

 

“अनुभव” वेब पत्रिका के लिए रचना भेजने से पहले नियमों को अवश्य पढ़ लें : – 

  1. पत्रिका के लिए रचना कोई भी भारतीय अथवा अभारतीय भेज सकता है ।
  2. रचना के साथ लेखक का नाम, फोटो, ईमेल और मोबाइल संख्या आवश्यक है। ( सुरक्षा की दृष्टि से ईमेल / मोबाइल सं० प्रकाशित नहीं किया जाएगा )।
  3. एक विधा में एक व्यक्ति की एक ही रचना प्रकाशित की जाएगी ।
  4. एक लेखक कृपया एक ही रचना जमा करें । एक से अधिक रचना जमा करने के लिए hindilekhak.com/write देखें ।
  5. हिन्दी साहित्य की हर विधा की रचना मान्य है।
  6. रचनाएँ टाइप की होनी चाहिए, फोटो या हस्तलिखित रचनाएँ स्वीकार नहीं किए जाते हैं ।
  7. रचना या तो फॉण्ट Kruti Dev में होनी चाहिए अथवा unicode (Mangal, Indic fonts आदि ) में ( किसी अन्य फॉन्ट्स में प्राप्त रचनाओं के लिए सूचना दी जाएगी, जिसे आप ठीक करके भेज सकते हैं )।
  8. रचना  मौलिक हो अथवा मौलिक रचनाकार का नाम अवश्य दिया गया हो।
  9. रचना का एक उचित शीर्षक दिया गया हो और रचना की विधा अवश्य बताई गई हो, अन्यथा रचना स्वीकृत नहीं होगी ।
  10. रचना का सर्वाधिकार मौलिक लेखक के पास सुरक्षित होगा तथा रचना के विषय वस्तु के लिए लेखक स्वयं उत्तरदायी होंगे ।
  11. भेजी गई रचनाएँ वेबसाइट पर भी प्रकाशित किए जाएँगे ।
  12. रचनाएँ निर्धारित तिथि तक नहीं मिलने पर, रचना अगले अंक के लिए मान्य होगी ।
  13. एक ही विधा की प्रकाशनार्थ रचना की बहुलता होने पर, हिन्दी लेखक पत्रिका टीम का निर्णय सर्वमान्य होगा।
  14. अधूरी रचनाएँ स्वीकृत नहीं होंगी ।
  15. पत्रिका में प्रकाशित रचनाओं के लिए कोई भी पारिश्रमिक देय नहीं है ।
  16. रचनाएँ पसन्द नहीं आने पर पत्रिका में प्रकाशित नहीं करने का अधिकार पत्रिका टीम के पास सुरक्षित है।





#वर्तनी