तारकेश्वर : गरीबों का अमरनाथ ….!!

तारकेश्वर : गरीबों का अमरनाथ ….!! तारकेश कुमार ओझा पांच, दस, पंद्रह या इससे भी ज्यादा …। हर साल श्रावण …

विलुप्त प्राय हमारा भविष्य

सुनकर आश्चर्य हो रहा है! परंतु यह वास्तविकता के काफ़ी नज़दीक है। पहले हमने सुना होगा की गिद्ध जैसे अनेक …

पहाड़ का अस्तित्व- ( पहाड़ की नारी)

नारी के बिना पहाड़ अधूरा – या यहां यह कहना गलत नहीं होगा कि पहाड़ का अस्तित्व ही नारी के …

सांस्कृतिक महोत्सव डोटल गाँव (मई -2019)

सांस्कृतिक महोत्सव डोटल गाँव (मई -2019) डोटल गांव सेवा समिति दिल्ली एक ऐसा नाम जो परदेस में रहकर भी अपने …

गए थे नवोदित खिलाड़ी से मिलने , याद आने लगे धौनी…!!

करीब 18 साल पहले मुझे धौनी का भी साक्षात्कार लेने का ऐसा ही मौका मिला था।

वेलेंटाइन एक अभिशाप

“14 फ़रवरी 1931 में पंडित मदन मोहन मालवीय ने वायसराय को टेलीग्राम किया और अपील की कि भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को दी गई फांसी की सज़ा को उम्रक़ैद की सज़ा में बदल दिया जाए।” लेकिन

खिचड़ी तेरे रूप अनेक

पसंद अनुसार सब्जियां, मसाले, मूंगफली, दालें, घी का प्रयोग कर स्वादिष्ट बनता जा सकता है। इस तरह की खिचड़ी को यू.पी. में