आत्मविश्वास

अनुभव को मंच पर धाराप्रवाह में शुद्ध उच्चारण के साथ भाषण देते  हुए देखकर  बच्चों के साथ-साथ सभी अध्यापक भी चकित रह गए वह भी कंठस्थ? वे कोई सपना तो नहीं  देख रहे।तभी…

Continue Reading

हाथी दादा

हाथी दादा ओढ़ लबादा,पहुँच गए बाज़ार । जूतों की दुकान देखकर माँगे जूते चार। भालू जूतेवाला बोला, बड़ा तुम्हारा नाप, इतने बड़े न बनते जूते, दादा कर दो माफ।

Continue Reading

सपना

मूषक राज दुलारे ने तो कुल का इज्जत ले डाला, बिल्ली राजकुमारी को भरी सभा मे ले भागा। चूहो ने पहले से कर रखी थी सारी तैयारी, शादी मे वनराज विराजे और कयी…

Continue Reading

एक कहानी

नानी एक कहानी सुना दो जल्दी से फिर मैं सो जाऊंगा सुबह सवेरे उठकर जल्दी फिर मैं अपने स्कूल जाऊँगा । कहानी में होती है बिल्ली रानी कभी होती है राजा रानी की…

Continue Reading

एक पत्र तारों के नाम

ओ टिमटिमाते तारे, सुदूर गगन मे विचरण करनेवाले, चंदामामा के दोस्त, कैसे हो आजकल ? बादलों की धुंध मे साफ़-साफ़ दिखते भी नहीं हो ! पूरी रात एक जैसी ऊर्जा के साथ ड्यूटी…

Continue Reading

मन की शक्ति

सिर्फ मनुष्य में ही विचार की एक ऐसी शक्ति है , जिसको काम में लाने से वह अपना उद्धार कर सकता है । मनुष्य स्वयं ही अपना मित्र है और स्वयं ही अपना…

Continue Reading

कुसंगति का फल

कुसंगति का फल सेठ करोड़ीमल का रोहित इकलौता पुत्र था। उसका अधिकाँश समय अपने आमों के बागों में बीतता था। वहाँ उसके दो - चार दोस्त बन गए थे। उनकी संगति में रोहित…

Continue Reading

पेड़ लगाओ

पेड़ लगाओ , पेड़ लगाओ , इस दुनिया को बचाओ। क्या करते हो पेड़ काटकर , जानवरों का कर रहे हो नुकसान। पेड़ लगाओ, पेड़ लगाओ, दुनिया को प्रदूषण से बचाओ। इससे होता…

Continue Reading

कौन बड़ा ?

एक जंगल में एक शेर और मक्खी रहती थी। एक बार शेर जंगल में सो रहा था । मक्खी बार -बार भिन्न -भिन्न कर रही थी । शेर ने बोला में जंगल का…

Continue Reading

ईमानदार लड़का

मन्नू एक गरीब लड़का था । घर में वह और उसकी माँ रहते थे । मन्नू जंगल से लकड़ियाँ चुनकर लाता और बेच देता था ।जो रुपये मिलते उनसे कुछ रूखा-सूखा खा लेते।…

Continue Reading
Close Menu