एक था बचपन

एक  था  बचपन ,एक था  बचपन , भोला सा ,प्यारा  सा  ,नन्हा सा बचपन . क्यों  हैवानियत का ग्रास बना  …

वत्स ! क्या अब तुम वह नहीं, जो पहले थे

मधुगीति १८०२१२ ब वत्स ! क्या अब तुम वह नहीं, जो पहले थे? निर्गुण की पहेली, अहसास की अठखेली; गुणों …

प्रतिस्पर्धा

राहुल   अपनी  कक्षा   का   सबसे   मेघावी   व्  बुध्धिमान  छात्र   था. पढाई   के साथ-साथ   वह   विद्यालय   में होने वाली अन्य  गतिविधियों-खेल …

बचपन के दिन भी क्या दिन थे

बचपन के दिन भी क्या दिन थे! ना चिंता, ना कोई तनाव, ना तो ढेर सारी ख्वायिशें, ना ही बेशुमार …