इंतजार सिर्फ तुम्हारा

शायदतेरे इंतज़ार लायक हो चुका हूँइसीलिए उसी मोड़ पर वापिस लौट आया हूँ।।

कहाँ गया सच्चा प्रतिरोध

नवगीत (कहाँ गया सच्चा प्रतिरोध) सुन ओ भारतवासी अबोध, कहाँ गया सच्चा प्रतिरोध? आये दिन करता हड़ताल, ट्रेनें फूँके हो …