सरेआम

  सरेआम अपने इश्क  का यूँ न तमाशा  बनाइये। अपने वजूद का खुद ही ज़रा पता लगाइये।। बेमौत मार डालेंगी हमे ये होशमंदियाँ । गर जीने की आरजू है तो खुद को भुला…

Continue Reading

जहर का भी एक समन्दर होना चाहिए

हर शख्स की प्यास पानी से नही बुझती जहर का भी तो एक समन्दर होना चाहिए हिन्दू का राम है मोहम्मद है मुसलमाँ का इंसान का भी तो कहीँ कोई पयम्बर होना चाहिए…

Continue Reading

विरह में भी मुस्करा के …

विरह में भी मुस्करा के, गीत गाते हम रहेंगे। मिलन चाहे हो न पाए, मुस्कुराते हम रहेंगे।। धूल में जो मिल भी जाएं, दूर तक हम संग चलेंगे। हो कठिन राहें भले ही,…

Continue Reading

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिसतां हमारा गुरबत में हों अगर हम, रहता है दिल वतन में समझो वहीं हमें भी, दिल हो जहाँ हमारा परबत वो…

Continue Reading

मिला

देख तुझको हमें करार मिला आज जीवन कहीं उधार मिला प्यास मिटती गई तभी मेरी प्यार का जब मुझे  खुमार मिला जब मिला तू नहीं कभी उससे रोज तेरा उसे इन्तजार मिला साथ…

Continue Reading
Close Menu