क्रिया

क्रिया ( Verb ) जिस शब्द से किसी कार्य का होना अथवा करना समझा जाये अथवा जाहिर हो, उसे क्रिया कहते हैं. जैसे – खाना, पीना, आना, पढ़ना इत्यादि. धातु जिस मूल शब्द…

Continue Reading

वाक्य

वाक्य मनुष्य के विचारों को पूर्णता से प्रकट करनेवाले  पदसमूह को वाक्य कहते हैं। वाक्य में आकांक्षा, योग्यता और काम वाक्य  के एक पद को  सुनकर दूसरे पद को सुनने या जानने की जो…

Continue Reading

सर्वनाम

सर्वनाम( Pronoun ) सर्वनाम उस  विकारी शब्द को ‘सर्वनाम’ कहते हैं जो पूर्व में प्रयुक्त संज्ञा के बदले आता है. जैसे – सीता एक अच्छी लड़की है. सर्वनाम के भेद सर्वनामों की संख्या सर्वनामों…

Continue Reading

वचन

Number वचन ( Number) संज्ञा, सर्वनाम,विशेषण तथा क्रिया के संख्याबोधक रूप को वचन कहते हैं. जैसे – काला कुत्ता ( एकवचन), काले कुत्ते (बहुवचन) इत्यादि. वचन के भेद एकवचन –विकारी शब्द के जिस व्यक्ति…

Continue Reading

लिंग

( GENDER )  किसी वस्तु या वय्क्ति की जाति बोध कराने वाली संज्ञा के रुप को लिंग कहते हैं।जैसे – लड़का ( पुलिंग ) ,लड़की ( स्त्रीलिंग ) इत्यदि । लिंग– निर्णय के प्रमुख…

Continue Reading

कारक

कारक ( Case ) संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से उनका (संज्ञा या सर्वनाम का) क्रिया से सम्बन्ध सूचित हो, उसे ‘कारक’ कहते हैं. जैसे- कारक के भेद हिंदी में कारक आठ…

Continue Reading

अव्यय

जिस शब्दरूप में लिंग, वचन, पुरुष, कारक इत्यादि के कारण कोई विकार पैदा नहीं होता, उसे अव्यय कहते हैं. वस्तुतः किसी भी स्थिति  में अव्यय का रूप वैसे – का – वैसे बना…

Continue Reading

वर्णमाला

वर्णमाला ध्वनि ध्वनि शब्दों का आधारस्तंभ है, जिसके बिना शब्द की कल्पना नहीं की जा सकती। अ, आ, क, ग इत्यादि जब मनुष्य बोलता है तबये ध्वनियाँ कहलाती हैं।  इनके लिखित रूप को…

Continue Reading

अन्वय

अन्वय  कर्ता और क्रिया का मेल : –  यदि कर्तृवाच्य वाक्य में कर्त्ता विभक्त्तिरहित है, तो उसकी क्रिया के लिंग, वचन और पुरुष कर्त्ता के लिंग, वचन और पुरुष के अनुसार होंगे। जैसे…

Continue Reading
Close Menu