हमसाया

तू कर ले कोशिश जो दूर जाने की पास आने की राह ढूंढ जाऊँगी तू अगर धागों को तोड़ना चाहे मैं रिश्तों की मोती पिरों जाऊँगी कभी थोड़ी स्याह जो लगी जिन्दगी मैं…

Continue Reading

गोरी

सुवर्ण जैसी छवि वाली लगे गोरी  सुवर्ण नख-शिख धारण करे गोरी पीत से कोमल कुमारि कटि सजे पीत प्रसून की मृदु शाखि चढ़े गोरी हरा ही सिर से  दुरीय ओढ़े गोरी खेत खलिहान…

Continue Reading

भ्रम

अच्छे होने का भ्रम तुमको है पाले रखा रखा है जो तुमने अच्छे बने हो अब तक केवल तुम लाइक कमेन्टस का प्रहसन तुम्हारे लिए स्रोत है निर्झरिणी जैसा तुमको देता लेखन को…

Continue Reading

सौ सुनार की एक लुहार की

देखो यहाँ एक आनर पे सौ बिमार है सौ चोट सुनार पर एक चोट लुहार है   देश शरीफों का देखा हमने अपना है सरकार में देखो तुम कितने गद्दार है   बैसाखियों…

Continue Reading

मेरे आत्मज

मैं आत्मजा   तेरे ही हूँ मैं पाती हूँ तुझ से आकार लिया तेरे जीवन की मैं धाती   तूने मुझमें जीवन पाया तेरा स्वास स्वास भर आया मेरे आने से जीवन में…

Continue Reading

आदिमानव असभ्य था या आजमानव

****आदिमानव ***** कौन था असभ्य जिसने। जिसने तन को ढकँने की कला सीखी। या वो तन दिखाने को कला कहता है। कौन था असभ्य जिसने। रिश्ते निभाने की कला सीखी। या वो जो…

Continue Reading

रावण

हे सीता अभिमान न कर रावण को तूने झुका दिया अपनी अस्मिता की रक्षा में रावण की लंका जला दिया। क्युकी उस त्रेता के रावण की अपनी भी कुछ मर्यादा थी माना वो…

Continue Reading

हमार गाँव

सारी  दुनिया  से सुन्दर  है ई हमार गाँव  रे। जहाँ  पीपर औ निबिया  की घनी छांव रे । जहाँ  उठि के भोर बुहारै आंगन का हमारी माई। जहाँ  गूँज  उठै पायलिया । मन…

Continue Reading

आदमी फिर से अकेला हो रहा

आदमी फिर से अकेला हो रहा सिर पकड़ इंसान कितना रो रहा।1   मर गया उसकी अभी चिंता नहीं खून के छींटे मुलाजिम धो रहा।2   मुजरिमों को मिल रही खोयी जमीं आइना…

Continue Reading

शमशान

काल के कालांतर का रहस्य है शमशान, जीवन मृत्यु का उदगम स्थान है शमशान । हर तरफ चिता दहकती है और भस्म ही भस्म उडती है, जीवन के कडवे सत्य कि ज्ञान यहाँ…

Continue Reading

अमलतास के फूल

सीधे सीधे कर रहा, गरमी से मुठभेड़। पीत बसन ओढ़े खड़ा, अमलतास का पेड़॥ पत्तों से ज्यादा दिखें, अमलतास पर फूल। दुख में हर्षित हो रहा, लगता है प्रतिकूल॥ पीले फूलों से सजा,…

Continue Reading

कोशिश तुम करो निरंतर

मन मे यदि उत्साह भरा है, विजय तुम्हारे द्वार मिलेगी। यदि खुद पर विश्वास खो दिया, तो जीवन मे हार मिलेगी।   माना मंजिल दूर बहुत है औ पथ भी अनजाना है लेकिन…

Continue Reading
Close Menu