ईश्वर की चाह

जब दोनों नदी में स्नान कर रहे थे और पानी दोनों के गर्दन तक आ गया, तो अचानक गुरुदेव ने अपने शिष्य की गर्दन को पानी के भीतर डाल दिया। शिष्य के मन में बड़ा आश्चर्य ...

Continue Reading

भिखारी कौन

ट्रैन आने वाली है। राम्या सीधे टिकट खिड़की पर पहुँचती है। भैया जयपुर का टिकट कितने का है। दो सौ पांच सामने से आवाज आई। एक मिनिट राम्या ये कहकर अपने बैग से अपना पर्स निकालने को बैग खोलती है। लेकिन पर्स वहाँ नहीं मिलता। शायद कपड़ो के नीचे दब गया होगा, राम्या ने अपने मन में सोचते हुए वहाँ टटोला। जब वहाँ भी नही मिला तो उसने पूरा बैग छान मारा।अब उसके होश फाख्ता हो गए। पर्स चोरी हो गया था।

Continue Reading

छड़ी

रोज की तरह राजेश अपने दफ्तर जाने की तैयारी कर रहा था। उसने अपनी पत्नी मधु से कहा की उसे दफ्तर जाने में देर हो रही है, उसका टिफिन अभी तक क्यों तैयार नहीं है? मधु तुनकती हुई आई और बोली "मुझे क्या तुमने अल्लाद्दिन का जिन्न समझ रखा है, जो तुम्हारी हर फरमाइश बोलते ही पूरी हो जाये। इस घर में हर किसी ने मुझे मशीन समझ रखा है। ये लो पकड़ो अपना टिफिन।"

Continue Reading
Close Menu