दोस्ती-एक प्रेम कहानी

हर एक इंसान की अपनी कुछ अभिलाषाये होती है और वह सामने वाले से वही अपेक्षा करता है जैसे उसे क्या प्रसन्द है क्या नहीं। यही सभी बातें ध्यान में रखते हुए अपनी लाइफ को मैं जीने लगा। अब तो दिन ही नही साल बीतने लगे। मैं गांव से शहर अपनी आगे की शिक्षा के लिए आ गया। वो दिन भी आया जब पहली बार मैने उससे अपने दिल की बात कही। और उसने मेरी बात को स्वीकार किया।अब वह दोस्त के साथ मेरा प्यार भी है कुछ वक्त बाद मुझे उसने बताया कि अब आपके ही इंतेज़ार में पलकें बिछी रहती है कि कब मेरे सामने आओगे।

Continue Reading

रिस्ते और मंजिल

रिस्ते और मंजिल मोहब्बत हो या दोस्ती दोनो ही लाजवाब हैं गर दोस्त से ही मोहब्बत हो जाये, ये बड़ी बात है मोहब्बत और दोस्ती, एक अजीब इतेफाक है क्योंकि दोस्ती हो या…

Continue Reading

मेरी हमसफर बनोगी

जोर से बोलो वेलिनटाइन बाबा की जय.......... बरबादी के देवता की...........जय हो गॉड ऑफ लव की...... पहले मैंने सोचा कि ये ब्लॉग लिख तो लिया है मगर पोस्ट करूँ या न करूँ.....संशय में…

Continue Reading

वो और मेरा प्यार

सुना है जंगलों का भी कोई दस्तूर होता है प्यार दिलवालों से करो तो क़बूल होता है ये प्यार कोई माचिस की तीली नहीं जब होता है तो हरपल, भरपूर होता है वो…

Continue Reading

तब्बसुम तेरे प्यार का

गिरती बुँदे तरूओ से छन कर, मेरे मुख-मण्डल को भिगो रही है, मधूर उषा की अँगराई, मेरे रोम-रोम को महका रही है, मेरा हृदय अठखेली करता वाचाल पलो मे, तेरे प्यार का तब्बसुम…

Continue Reading

प्रेमपत्र यादें

पहले प्यार का पुराना वह खत मिला देखते ही दिल खुश सिरहन हुई, फिर से पुराने जज्बातों का सैलाब उमड़ पड़ा| खत पर निगाहे टिक गई, आंखें शर्म से झुक गई, चेहरा फिर…

Continue Reading

प्रेम पत्र

मेरे प्रिय प्रेमी, लिखना चाहती हू ढेर सारी बातें भरे प्रेम पत्र पर लिखा न पाती एक तिनका अक्षर । क्यों समझ न पाती । क्या पत्र से निकालनेवाला है प्रेम? नहीं आँखों…

Continue Reading

प्रेम पत्र

सीधी रेखाओं से बहुत ही सरल आकृतियां बनती रही हमेशा और मई उनमे ही खोजता रहा तुम्हें तुम्हारा सौंदर्य तुम्हारा प्रेम तुम्हारी चंचलता अल्हड़ता कितना कुछ खोजता था उनमें पर तुम हरगिज नहीं…

Continue Reading

प्रेमिका का खत प्रेमी के नाम

प्रेमिका का खत प्रेमी के नाम जो सत्य है अव्यक्त है, मिलन की झूठी आस है, नहीं बनोगे हमसफर, यह सोच दिल‌ उदास है। कुरीतियों की बेडिया, समाज में बडी बडी, कदम लडखडा…

Continue Reading

तू मेरी होकर भी मुझे लगती परायी है।

तेरी याद ही मुझको यहां खींच लाई है, तू मेरी होकर भी लगती मुझे परायी है। मैं खुद नही जानता कितना चाहता हूं तुझे, तू मेरे दिल,धड़कन,मेरे साँसों में समायी है। तेरे खूबसूरती…

Continue Reading
  • 1
  • 2
Close Menu